India

औरतों के मुकाबले ज्‍यादा देर तक खाते हैं भारत के मर्द, सोने में महिलाएं आगे: सर्वे


लोग पूरा दिन क्‍या करते हैं? कितनी देर सोते हैं, कितनी देर में खाना खाते हैं, धर्म-कर्म में कितना वक्‍त बिताते हैं, यह पता चल गया है। नैशनल स्‍टैटिस्टिकल ऑफ‍िस (NSO) के टाइम यूज सर्वे (TUS) में यह सारी जानकारी सामने आई हे। जनवरी 2019 से दिसंबर 2019 के बीच देशभर के 5,947 गांवों और 3,998 शहरी ब्‍लॉकों में यह सर्वे हुआ है। इसमें कुल 1,38,799 घरों (ग्रामीण – 82,897, शहरी- 55,902) से उनकी दिनचर्या के बारे में पूछा गया। कुल 4,47,250 लोगों से सवाल-जवाब हुए। अपनी तरह के इस अनूठे सर्वे का मकसद था ग्रामीण और शहरी इलाकों में पेड या अनपेड ऐक्टिविटीज में बिताए जाने वाले समय का पता लगाना। सरकार को इससे नीतियां निर्धारित करने में खासी मदद मिलेगी। आइए जानते हैं कि सर्वे की मुख्‍य बातें क्‍या हैं।

खाने-पीने में ज्‍यादा वक्‍त लेते हैं मर्द

सर्वे के मुताबिक, जब खाने-पीने की बात आती है तो ग्रामीण इलाकों के पुरुष महिलाओं से करीब 10 मिनट ज्‍यादा लेते हैं। महिलाएं जहां दिन के 94 मिनट खाने-पीने में लगाती हैं जबकि पुरुष 103 मिनट लेते हैं। शहरों में भी यही ट्रेंड है। पुरुष 101 मिनट लेते हैं जबकि महिलाएं दिनभर में 97 मिनट खाने-पीने पर देती हैं।

थोड़ी ज्‍यादा देर तक सोती हैं महिलाएं

सोने की बात करें तो सर्वे कहता है महिलाएं थोड़ी ज्‍यादा देर तक नींद लेती हैं। शहरी इलाकों में 24 घंटे के भीतर पुरुष जहां 534 मिनट नींद लेते हैं, वहीं महिलाएं 552 मिनट सोती हैं। ग्रामीण इलाकों में यह अंतर थोड़ा कम हो जाता है। वहां पुरुष 554 मिनट सोते हैं जबकि महिलाएं 552 मिनट।

घर के काम में महिलाओं पर ज्‍यादा बोझ

घर के अन्‍य सदस्‍यों के लिए काम करने, उनकी देखभाल करने में महिलाओं को कहीं ज्‍यादा वक्‍त देना पड़ता है। शहरी इलाकों में परिवार के काम-काज के लिए महिलाएं जहां 293 मिनट देती हैं, पुरुष सिर्फ 94 मिनट ही निकाल पाते हैं। ग्रामीण इलाकों में महिलाओं को दिन में 301 मिनट घर के कामों में लगे रहना होता है जबकि पुरुष केवल 98 मिनट ऐसे काम करते हैं। यह वो वक्‍त है जिसके लिए कोई भुगतान नहीं होता, न पुरुष को और न ही महिलाओं को। घरवालों का खयाल रखने में भी महिलाएं ज्‍यादा वक्‍त देती हैं। ग्रामीण इलाकों में महिलाएं जहां 138 मिनट देती हैं, वहीं पुरुष केवल 75 मिनट। शहरी इलाकों में महिलाएं दिन में 132 मिनट घरवालों का ध्‍यान रखने में बिताती हैं जबकि पुरुष केवल 77 मिनट।

कल्‍चर, स्‍पोर्ट्स को करीब 3 घंटे देते हैं भारतीय

-3-

सर्वे के मुताबिक कल्‍चर, मास मीडिया और स्‍पोर्ट्स में भारतीय औसतन 165 मिनट देते हैं। ग्रामीण इलाकों में पुरुष ऐसी गतिविधियों पर 162 मिनट खर्च करते हैं जबकि महिलाएं 157 मिनट। शहरी इलाकों में पुरुष 171 मिनट इन बातों में लगाते हैं जबकि महिलाएं 181 मिनट देती हैं।

मिलने-जुलने में जाते हैं ढाई घंटे

NSO के अनुसार, 6 साल या उससे ज्‍यादा उम्र के लोग सामाजिक कार्यों, सामूहिक और धार्मिक गतिविधियों में औसतन रोज करीब 143 मिनट लगाते हैं। ग्रामीण इलाकों में पुरुष ऐसी गतिविधियों पर 151 मिनट देते हैं जब‍कि महिलाएं 139 मिनट।



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like

%d bloggers like this: