India

कर्नाटक: डीके शिवकुमार पर 74 करोड़ की अवैध संपत्ति के आरोप में केस दर्ज, CBI ने 14 ठिकानों पर मारे छापे


हाइलाइट्स:

  • कर्नाटक कांग्रेस चीफ डीके शिवकुमार के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी
  • कर्नाटक से लेकर दिल्ली-मुंबई तक के 14 ठिकानों पर CBI ने मारे छापे
  • एजेंसी ने कहा, 74.93 करोड़ की अवैध संपत्ति की शिकायत पर हुई कार्रवाई
  • छापेमारी के दौरान करीब 57 लाख रुपये की बरामदगी, अहम दस्तावेज भी मिले

बेंगलुरु
केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सोमवार को कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार और बेंगलुरु ग्रामीण लोकसभा से सांसद उनके भाई डी.के. सुरेश के 14 ठिकानों पर छापेमारी की। सीबीआई ने सोमवार को सुबह लगभग 6 बजे छापेमारी शुरू की और जैसे ही यह खबर फैली, बड़ी संख्या में समर्थकों का जमावड़ा उनके घर के बाहर लगना शुरू हो गया।

सोमवार शाम सीबीआई ने एक बयान जारी कर कहा, ‘सीबीआई ने कर्नाटक के एक पूर्व मंत्री (वर्तमान विधायक) के खिलाफ अपने और परिवारवालों के नाम से 74.93 करोड़ की बेहिसाब संपत्ति रखने के आरोप में केस दर्ज किया है।’ एजेंसी ने आगे कहा, ‘आज उनके कर्नाटक, दिल्ली, मुंबई स्थित करीब 14 ठिकानों पर छापेमारी की गई। इस दौरान करीब 57 लाख रुपये की बरामदगी हुई है और कुछ अहम दस्तावेज भी मिले हैं। जांच जारी है।’

उपचुनाव से पहले छापेमारी, कांग्रेस ने केंद्र को लिया निशाने पर

उधर उपचुनाव की घोषणा के बाद इस तरह की छापेमारी की कार्रवाई पर कांग्रेस नेताओं ने केंद्र सरकार पर तीखे हमले किए हैं। पार्टी महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर आरोप लगाया, ‘मोदी-येदियुरप्पा की जोड़ी के डराने-धमकाने के खेल को उनकी कठपुतली बनी सीबीआई की तरफ से डी.के. शिवकुमार पर छापा मारकर अंजाम दिया जा रहा है… लेकिन इससे वह डरने वाले नहीं हैं। सीबीआई को येदियुरप्पा सरकार के भ्रष्टाचार की परतों को खोलना चाहिए।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मोदी और येदियुरप्पा सरकार और बीजेपी के फ्रंटल संगठन यानी सीबीआई-ईडी-इनकम टैक्स को बताना चाहते हैं कि कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता ऐसे कुटिल प्रयासों के आगे न तो झुकेंगे और न ही झुकने देंगे।’

पिछले साल ईडी ने किया था गिरफ्तार, हवाला के जरिए लेनदेन का आरोप

पिछले साल सितंबर में, कर्नाटक कांग्रेस के प्रमुख को प्रवर्तन निदेशालय ने उनके खिलाफ आयकर विभाग द्वारा दायर चार्जशीट के आधार पर गिरफ्तार किया था। उन पर दूसरों की मदद से हवाला चैनलों के जरिए बेहिसाब धनराशि के लेनदेन का आरोप है। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत, शिवकुमार पर कर चोरी और ‘हवाला’ से करोड़ों रुपये के लेनदेन का आरोप लगाया गया था।

मां बोलीं, केंद्रीय एजेंसियों को है मेरे बेटे से प्यार

कर्नाटक कांग्रेस नेता डी.के. शिवकुमार और उनके भाई के कई ठिकानों पर सीबीआई छापेमारी को लेकर उनकी मां गौराम्मा ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों को उनके बेटों से बहुत प्यार है। इसके साथ ही उन्होंने जांच एजेंसियों को अपने प्रयासों के लिए शुभकामनाएं भी दीं। बेंगलुरु के कनकपुरा में पत्रकारों से बात करते हुए गौराम्मा ने कहा, ‘वे कई बार उसके लिए छापेमारी कर चुके हैं। यह बस एक और छापा है। इसके बारे में चिंता करने की कोई बात नहीं है। वह पहले कई मौकों पर केंद्रीय एजेंसियों के सामने पेश हो चुका है। इसलिए, अब हमारे लिए चिंता की बात नहीं है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘एक मां के रूप में मैं सिर्फ एक अनुरोध करना चाहूंगी कि मेरे बेटों को समय पर खाना खाने दें और उन्हें अपनी दवा लेने की अनुमति दें।’



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like

%d bloggers like this: