Business

बेहतर बिक्री से टाटा मोटर्स का तिमाही घाटा सीमित हो 7,585 करोड़ रुपए


नयी दिल्ली, 18 मई (भाषा) वाहन विनिर्माता टाटा मोटर्स ने मंगलवार को बताया कि बेहतर बिक्री के सहारे बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध घाटा कम होकर 7,585 करोड़ रुपये रहा।

वित्त वर्ष 2019-20 की जनवरी-मार्च तिमाही के दौरान उसका एकीकृत शुद्ध घाटा 9,864 करोड़ रुपये था।

टाटा मोटर्स ने शेयर बाजार को बताया कि समीक्षाधीन अवधि में उसकी कुल आय 89,319 करोड़ रुपये रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 63,057 करोड़ रुपये थी।

कंपनी की ब्रिटिश इकाई जगुआर लैंड रोवर (जेएलआर) को 1.5 अरब पौंड के असाधारण प्रावधानों के कारण जनवरी-मार्च 2021 की तिमाही में 95.2 करोड़ पौंड का कर पूर्व घाटा हुआ। इस अधारण प्रावधान में 95.2 करोड़ पौंड का नुकसान पिछले निवेश पर बट्टा लगने से और 53.4 करोड़ पौंड का प्रावधान पुनर्गठन के खर्च के रूप में है जिसका भुगतान चालू वित्त वर्ष में किया जाना है।

टाटा मोटर्स ने नयी वैश्विक रणनीति अपनायी है जिसे ‘रीइमैजिन’ यानी नयी कल्पना कहा जा रहा है। आधुनिक लक्जरी कारों के प्रति नयी सोच के साथ चल कर कंपनी 2025/26 तक अपने परिचालन लाभ की वृद्धि दर दो गुना करना चाहती है।

हालांकि चीन के बाजार और अपने नये डिफेंडर मॉडल की लोकप्रियता की वजह से जनवरी-मार्च 2021 तिमाही में जेएलआर का राजस्व 20.5 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 6.5 अरब पौंड रहा। इस तिमाही में उसने 1,23,483 वाहनों की खुदरा बिक्री की जो सालाना स्तर पर 12.4 प्रतिशत की वृद्धि थी।

वित्तीय वर्ष 2020-21 में जेएलआर का राजस्व 19.7 अरब पौंड था जबकि उसने 4,39,588 वाहनों की खुदरा बिक्री की जो 13.6 प्रतिशत कम थी।

एकल आधार पर आलोच्य तिमाही में टाटा मोटर्स को 1,645.69 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ। पिछले साल इस अवधि में उसे 4,871.05 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

जनवरी-मार्च 2021 तिमाही में कंपनी की कुल एकल आय जनवरी-मार्च 2020 तिमाही के 10,001.79 करोड़ रुपए से बढ़कर 20,305.90 करोड़ हो गयी। इस तिमाही में कंपनी की थोक बिक्री में 90.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी और उसने 1,95,859 वाहनों की बिक्री की। इसमें निर्यात के आंकड़े भी शामिल हैं।

वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान टाटा मोटर्स का एकीकृत शुद्ध घाटा 13,395 करोड़ रुपये रहा, जबकि इस दौरान कुल आय 2,52,437.94 करोड़ रुपये रही।

कंपनी को वित्त वर्ष 2019-20 में 11,975 करोड़ रुपये का घाटा हुआ, जबकि इस दौरान उसकी कुल आय 2,64,041 करोड़ रुपये थी।

टाटा मोटर्स के सीईओ और प्रबंध निदेशक गुएंतर बुत्सशेक ने कहा, “वित्तीय वर्ष 2020-21 में ऑटो क्षेत्र कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित हुआ लेकिन देशव्यापी लॉकडाउन में ढील के साथ वाहनों की मांग में स्थिर वृद्धि देखी गयी और अर्थव्यवस्था में स्थिर सुधार आने से दबी हुई मांग सामने आयी।”



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like

%d bloggers like this: