India

Sidhu letter to Sonia gandhi : ऐक्शन में आए सिद्धू, सोनिया गांधी को लिखा ‘पंजाब में आखिरी मौका’, … जानें 13 पॉइंट्स में कही क्या बातें


हाइलाइट्स

  • सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा लिया वापस
  • एक बार फिर से सोनिया गांधी की लिखा पत्र
  • सिद्धू ने लेटर में 13 पॉइंट्स पर उठाए मुद्दे
  • नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कांग्रेस के पास लास्ट मौका

चंडीगढ़
पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा वापस लेने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। सिद्धू ने सोनिया से मिलने का वक्त मांगा है। अपने लेटर में सिद्धू ने 13 मुद्दों का जिक्र किया है और पंजाब सरकार से इनको पूरा करने के लिए कहा है। ऐसे में यह सवाल एक बार फिर से उठने लगा है कि पंजाब कांग्रेस में अभी सब ठीक नहीं हुआ है क्या?

सोनिया गांधी को तीन पन्नों का लिखा गया लेटर 15 अक्टूबर का है। सिद्धू ने रविवार को अपने ट्विटर हैंडल से लेटर के तीनों पन्ने ट्वीट किए। इसमें 13 पॉइंट्स दिए गए हैं, जिन्हें लेकर कांग्रेस को काम करने के लिए कहा गया है। सिद्धू ने लिखा है कि यह कांग्रेस के पास अंतिम मौका है कि इन मुद्दों पर काम करें।

जानें सिद्धू ने सोनिया गांधी को पत्र में क्या लिखा
1- सिद्धू ने पहले पॉइंट में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का मुद्दा उठाते हुए दोषियों के खिलाफ ऐक्शन की मांग की है। इसके अलावा कोटकपूरा गोलीकांड पर कार्रवाई को कहा है।
2- पंजाब में ड्रग्स का मुद्दा उठाते हुए सिद्धू ने कहा कि एसटीएफ ने अपनी रिपोर्ट में जिन बड़ी मछलियों का हाथ ड्रग्स ट्रैफकिंग मामले में होना बताया है, उन पर ऐक्शन लिया जाए।
3- पंजाब एक कृषि प्रधान राज्य है। यहां पर किसानों की समस्याओं को दूर किया जाए। तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ स्टैंड क्लियर करें। कोल्ड स्टोरेज से लेकर कृषि उत्पादन संबंधित मुद्दों को सुलझाएं।
4- बिजली समस्या से पंजाब को मुक्ति दिलाएं। 24 घंटे बिजली की सप्लाई सुनिश्चित कराई जाए। खासकर ग्रामीण इलाकों में बिजली की समस्या खत्म करें।
5- पीपीए (पंजाब पावर कॉरपोरेशन) पर श्वेत पत्र जारी किया जाए। देश में कोयले की कमी को लेकर स्थितियां साफ की जाएं। पंजाब को स्मार्ट, सस्ती और प्रभावी पीपीए का प्रयोग करना चाहिए ताकि पंजाब में बिजली की मांग पूरी की जा सके। सस्ते सोल पावर पर भी काम करना चाहिए।
6- अनुसूचित जाति और पिछड़ी जाति के कल्याण के लिए काम करें। हमारे कैबिनेट में कम से कम एक मजहबी सिख कैबिनेट में होना चाहिए। दोआबा का एक दलित प्रतिनिधि हो। कैबिनेट में कम से कम दो पिछड़ी जाति के लोग हैं। आरक्षित संसदीय क्षेत्रों के विकास के लिए कम सेस कम 25 करोड़ रुपये स्पेशल पैकेज के तहत दिए जाएं। हर एक दलित को पक्का घर, कृषि भूमि दें।
7- हजारों सरकारी पद खाली पड़े हैं, उन्हें भरा जाए। 20 से ज्यादा यूनियन टीचर्स, डॉक्टर्स, नर्स, लाइन मैन, सफाई कर्मचारियों के मांगों को पूरा करना चाहिए।
8- सिद्धू ने उद्योगों और कारोबारियों की मदद और विकास के लिए सिंगल विंड सिस्टम लागू करने की मांग की है।
9- महिलाओं और युवाओं का विकास हो।
10- सिद्धू ने कहा कि राज्य सरकार को शराब के कारोबार का एकाधिकार करना चाहिए, जैसा तमिलनाडु में है। ऐसा करने से राज्य सरकार को 20,000 करोड़ का फायदा होगा और रोजगार भी बनेंगे।
11- सिद्धू ने सैंड माइनिंग का मुद्दा भी उरठाया है।
12- राज्य सरकार पंजाब में ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था को दुरुस्त करे। ऐसा करने से लोगों को सुविधाएं और रोजगार दोनों मिलेंगे।
13- अंतिम बिंदु केबल माफियाओं से जुड़ा है।

नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो)



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like

%d bloggers like this: